#47 Shayari

पैसा ज़रुरत है, ज़रूरतों को पूरा करने की, खुशियों को पाने की कीमत की सीमा कहां.

Advertisements

#24 Shayari

मुझसे बिछड़ने की वजह कहीं वो खुद को न मान बैठे, जीना न छोड़ दे, सांसों के चलते-चलते.

#16 Shayari

"मैंने दोस्त से कह दिया आती है हर पल उसकी याद, और फिर हर पल ये सोचता रहा, वो ऐसा किसे कहती होगी"