#Shayari 78

हमने आज बहुत देर तक बात की, बस वो नहीं कहा, जो कहने की बात थी. कल हम फिर बात करेंगे, हम फिर कल कोई नयी बात कहेंगे.

Advertisements

#77 shayari

मेरी ज़िन्दगी में लोगों का ये हसीं कारवां, इन सांसो तक ही तो सीमित रहना है, आज़मा लो कुछ पलों के लिए तुम भी इस दिल को, सच्ची मोहब्बत यहां खुदा की रहमत से ही मिलना है.

#71 Shayari

हथेली पे जान रख दूं, उतना अज़ीज़ अब कोई है कहां? हर किसी को अनमोल महसूस करवाने की ख्वाहिश भी अब मर चुकी है ग़ालिब.

#70 Shayari

छोड़ गयी वो मुझे, जिसके साथ के सहारे, मैं बिना सांसो के भी जी लेता. Grandma I've all the reasons and all my silences to remember you. Not just today, but I remember you everyday. It is your love and values that give me hope for my every tomorrow. I hope I make you proud …