#43 Shayari

ज़रा थाम ही लो हाथ, के आइना सच कहता है, खुशनुमा है ज़िन्दगी, मुस्कुरा के दोनों से कहता है.

Advertisements